ईशा की दीदी के कारनामें – पार्ट 3

By   November 1, 2017
loading...

तीन लोगो ने कामिनी दीदी को कुतिया की तरह पटक पटक के चोदा था, हर जगह से घायल थी मेरी दीदी. पर इन सब के बावजूद दीदी उसको अपनी बेस्ट नाईट बताती है. दीदी अब सारी हदे पार करने के मूड में है. जबरदस्त sexy stories का दहकता हुआ किस्सा..

Hindi Sex Story के अन्य भाग-

पार्ट 1

पार्ट 2

पार्ट 3

——————————

तभी दीदी को थोड़ा होश आया.

उसने मेरे को अपने चेहरे के पास बुलाया और बोला – मत रो, मेरी ईशा… सच में मुझे काफ़ी मज़ा आया… तू चिंता मत कर, आज की रात मेरी लाइफ की बेस्ट नाइट थी… मत रो, मेरी बहना…

मैं शॉक्ड रह गई की ये क्या है.

मुझे विश्वास ही नहीं हुआ की मेरे कान क्या सुन रहे हैं और मैं सोचने लगी – क्या सेक्स ने दीदी का दिमाग़ खराब दिया है… या मुझे सिर्फ़ समझाने के लिए, वो ऐसा बोल रही हैं…

तभी आंटी किचन से एक कटोरी में सरसो का तेल गरम कर लाई और मुझे दीदी की पूरी बॉडी में लगाने को कहा.

मैंने दीदी की चूत, जाँघ, गाण्ड और दूध वगैहरा पर काफ़ी सारा तेल लगा दिया और दीदी की ज़ख्मी बॉडी की मालिश की.

कुछ देर बाद, आंटी दीदी को पकड़ कर बाथरूम में ले गई और दीदी की टब में डाल दिया.

(दीदी आज तो, ठीक से खड़ी भी नहीं हो पा रही थी.)

ये देख कर, मैं फिर से रोने लगी.

loading...

दीदी लगभग 20 मिनट नहाने के बाद, रूम मे आई.

तब तक आंटी ने रूम को ठीक कर दिया था.

दीदी ने दूध पिया और अपने ऊपर एक कंबल डाल कर सो गई.

मैं और आंटी भी थोड़ा शांत हो गये, दीदी के सोने के बाद.

दीदी सुबह में 6 बजने पर सोई थी और शाम को वो 4 बजने पर उठी.

मैं रुपाली आंटी के साथ बैठी हुई, बगल के रूम मे एक मूवी देख रही थी.

दीदी कंबल ओढ़े हुए, मेरे रूम में आई और मुझे गले से लगा लिया.

मुझे काफ़ी मस्त लगा.

दीदी अभी भी लंगड़ा के चल रही थी पर वो अब पहले से ठीक दिखाई दे रही थी.

मैंने दीदी से पूछा – कैसी हो आप… ??

दीदी ने मेरी आँखों में देखते हुए कहा – हाँ, मेरी प्यारी बहना… मैं बिल्कुल ठीक हूँ… लेकिन सुन, मम्मी और डैडी से ये सब मत बताना… समझी ना…

मैंने कहा – चिंता मत करो, दीदी… बस अपना ख़याल रखना, आप… अब ऐसा दुबारा मत करना…

दीदी ने ये सुन कर मुझे और भी कस कर, अपनी आगोश में ले लिया.

फिर दीदी रुपाली से बोली – रुपाली दीदी… कल की रात, उन तीनों ने मेरी गाण्ड और चूत की मां चोद दी… कम से कम, तीनों ने मिल कर मुझे 10 बार चोदा… आख़िर में तो मेरी चूत से पानी निकलना बंद हो गया… हरमियों ने ना जाने तो कितनी बार मेरे ऊपर मुता भी… मेरी चूत और गाण्ड का छेद थोड़ा सा फट भी चुका है और काफ़ी खुजली हो रही है, अंदर… चल भी नहीं पा रही हूँ पर सबसे अजीब बात ये है की अभी भी अंदर काफ़ी चुदास लगी हुई है…

आंटी ने दीदी का कंबल हटाया और दीदी की चूत को फैला दिया और वो दीदी की चूत के अंदर देखने लगी.

दीदी अब पीठ के बल लेट गई और आंटी को अपनी चूत दिखाने लगी.

आंटी ने दीदी की चूत को देखा और ठीक से देखने के बाद, दीदी से बोली – तेरी चूत से तो जलने की अजीब सी बू आ रही है… (थोड़ा रुक कर) लगता है, तेरे पापा ने कोई ब्लू फिल्म देखते हुए तेरी मम्मी को चोदा था तभी तू इतनी चुदासी है… मुझे तो लगता है, कोई कितना भी तुझे चोद दे पर इस चूत की प्यास को पूरा बुझा नहीं सकता है… हालत देख, फिर भी बोल रही है चुदास लगी है… (थोड़ा रुक कर) पर इस टाइप की चूत का एक फायदा है की इस टाइप की चूत से काफ़ी सारे पैसे कमाए जा सकते हैं…

दीदी अब सोच में पड़ गई.

isha ki didi ke kaarname sexy stories

चुद चुद के कुआँ हो गयी थी दीदी की चूत

थोड़ा सोचने के बाद, उसने आंटी से बोला – तभी, कल रात में वो मुझे पैसा वसूल करके आपस में बात कर रहे थे… मुझे तो वो एक हफ्ते के, एक लाख देने को बोल रहे थे… मैंने उनसे ना बोल दिया.

आंटी ने दीदी से बोला – लेकिन, हाँ ये सब करने से पहले ठीक से सोच लेना… सच कहूँ तो मैंने भी ये सब किया है… तुझे सुन के अजीब लगेगा पर मेरे पापा के बीमार होने के बाद, मेरी माँ ने मुझे धंधे में उतारा… मेरी शादी का खर्चा निकालने तक तो ठीक था पर मेरी लालची माँ ने मुझे शादी के बाद भी नहीं बख्शा… और तो और, मेरे पति के मायके में रहते हुए भी ग्राहक ले आती थी… एक दिन, तुम्हारे अंकल की आँख खुल गई और उन्होने मेरी मां को मेरी रख वाली करते हुए और मुझे चुदते हुए देख लिया… उन्होने मेरी मां को मेरे पापा के सामने ही, नंगी करके और कपड़े फाड़ के चोदा और मुझे वापस ले आए… तब से उन्होने मुझे रंडी बना दिया और मेरे दलाल बन गये… बहुत बुरी बुरी तरह से, उन्होने मुझे चुदवाया… खैर, कुछ वक़्त बाद मैं भी मज़े लेने लगी… तेरी ही तरह चुदासी तो मैं भी थी नहीं तो पहले ही दिन, अपनी माँ को मना कर सकती थी या पकड़े जाने के बाद, शर्म से आत्महत्या कर सकती थी… मेरे सामने और मेरे पापा के सामने, मेरे पति मेरी माँ को कुतिया की तरह चोद रहे थे और तब भी आँखों में शर्म की जगह, मेरी चूत में पानी था… देख कामिनी, मज़े और पैसा तो दोनों बहुत हैं, इस धंधे में… बस इस टाइप की लाइफस्टाइल में, कभी यू टर्न नहीं होता…

दीदी ने बोला – बाप रे, आंटी… ऐसा भी होता है…

फिर दीदी थोड़ी देर शांत रही और फिर कहा – ठीक है, आंटी… मुझे मंजूर है… चुदाई का मज़ा भी लो और पैसे भी कमाओ, इसमें बुराई क्या है… वैसे भी रंडी तो मेरी सारी सहेलियाँ भी है क्यूंकी 2 3 बॉय फ्रेंड तो सभी के है… मैं साथ में पैसा भी कमा लूँगी… ढेर सारा पैसा…

आंटी ने फिर बोला – एक बार और सोच ले, कामिनी…

दीदी – सोच लिया, आंटी…

फिर आंटी ने फोन किया.

उस साइड पर, राजन अंकल थे.

आंटी ने स्पीकर चालू कर लिया.

उन्होंने दीदी की कंडीशन पूछी तो आंटी ने बोला – हालत छोड़िए… ये तो रंडी ही बनने को तैयार है… पैसे लेकर, चुदवाने को ये सही समझती है और इसे कोई ऐतराज नहीं है…

अंकल ने बोला – मैंने पहले ही कहा था… हरामखोर रंडी है, साली… एक काम कर, उसे 8 बजने पर तैयार कर देना… आज कामिनी का बाहर का प्रोग्राम है… एक हाइ क्लास पॉर्न मूवी बनाने वाला डाइरेक्टर और उसका प्रोड्यूसर सिटी मे आया हुआ है… तेरी बात हो चुकी थी… ये जाएगी तो काफ़ी अच्छे पैसे मिलेंगे…

आंटी ने बोला – क्या ये सेफ रहेगा… ??

राजन ने जवाब दिया – हाँ, क्यों नहीं… और तुम जैसी रंडियों के लिए क्या सेफ… तुम जैसी छीनाल, गली में कुतिया की मौत ही मरती हो… खैर, तू और तेरी माँ भी तो साली छीनाल है… मुझे फसाया की नहीं, तेरी बहन की लौड़ी अम्मा ने… देख रंडिया भी आम लड़कियों की तरह ही जीती हैं… बाहर भी जाती हैं… उनके बॉय फ्रेंड भी बनते हैं और पति भी… तेरी और तेरी माँ की किस्मत खराब थी, जो तुम्हें मैं मिला… कई चूतियों को कभी पता भी नहीं चलता… तू चिंता मत कर… और वैसे भी ये मूवी इंडिया में नहीं दिखाई जाएगी…

loading...