ससुराल के पहले और बाद -II

By   April 11, 2018
loading...

sexy kahani के पिछले भाग में आपने पढ़ा की नेहा की चुदाई के बारे में उसकी माँ को पता चल गया था वो उसकी जल्द से जल्द ससुराल भेजना चाहती थी, indian hot kahani का अंतिम भाग आपके लिए-

hindi chudai kahani के अन्य भाग –

भाग – 1

भाग – 2


 

loading...

५ साल बाद नेहाका बाप वापस गाव लौटा अब तक नेहा२१ साल की हो चुकी थी । नेहाकी माँ ने उसके बाप को साड़ी बात बता दी उसने कहा नेहाअब बड़ी हो गई हे गाव में कही अपनी बदनामी न हो जाए इस से पहले इस छोरी का ब्याह कर देना चाहिए । नेहाके बाप ने भी बात मान ली उसे भी लगा की अब ज्यादा देर करना ठीक ना होगा इसलिए उसने तुरंत ही पास ही के कस्बे में रहने वाले एक परिवार में नेहाके रिश्ते की बात चलाइ । लड़का उम्र में नेहासे ७ साल बड़ा था पर अपने परिवार का इकलोता वारिस । किसी आचे दिन उन दोनों का विवाह कर दिया गया । पर नेहाके दिमाग से रवि अभी भी निकल नहीं पा रहा था अपने से बड़ी उम्र के लड़के से ब्याह कर उसका मन बेचैन हो गया था वो तो अपने हम उम्र के साथ ही विवाह करना चाहती थी पर गरीबी जब घर के रास्ते हे आती हे तो साड़ी इछाये खिड़की से बाहर चली जाती हे । मजबूर हो के उसको ये विवाह करना पड़ा । वो इस चीज का विरोध भी नहीं कर सकी अपने सपनो को अपने मन में दफना के वो अपने ससुराल चली गई ।आज नेहाकी सुहागरात है ।

कमरा फूलो से सजा है । सेज पे बैठी नेहाअपने पति का इन्तजार कर रही है । उसके मन में किसी तरह का कोई डर नहीं है जैसा की एक नई नवेली दुल्हन को अपनी सुहागरात को होता है । क्यू की उसको पता है की सुहागरात को क्या क्या होता है वो तो बस चुप चाप सेज पे बैठी हुई है और आने वाले पलों की प्रतीक्षा कर रही है की कब उसके साजन आये और उसकी भावनाओं को दबा दे । काफी समय बाद करीब आधी रात को उसके पति ने कमरे में प्रवेश किया । उसका पारी अपनी उम्र के हिसाब से काफी छोटा देखता था और वो था भी खुबसूरत । नेहाउसको देखते ही उसकी उम्र को भूल गई और उसकी खूबसूरती में खो गई । उसने सोचा की वो कितनी भग्य साली है जो उसको इतना अच्छा और खुबसूरत पति मिला अब उसके मन से रवि के ख्याल बहार निकल गए थे वो अपने साजन के रूप में खो गई थी

sasural pahle bad indian hot kahani

नेहा की मस्त चुदाई

और अंत में वही हुआ अनुज एक बार तो नेहाको बिना चोदे हे झड गया । उसका अन्डरवेअर उसके अपने ही रस से भीग गया । यह देख कर नेहाखिलखिला कर हंस पड़ी परन्तु अनुज की हालत देखने लायक थी । वो अपने आप में बहुत शर्मिंदा महसूस कर रहा था । खेर थोड़ी ही देर के बाद वो फिर से तैयार हो गया । इस बार वो अपना संतुलन बना के चल रहा था । उसने नेहाको गोद में उठाया और उसको पलंग पे पटक दिया । अब वो अपने खेल में जल्दबाजी नहीं करना चाहता था । वो धीरे धीरे नेहाके स्तनों को मसलने लगा और चूसने लगा । कभी कभी उसका मुह नेहाकी नाभि पे आ जाता तो नेहाभी सिहर उठती । ये देख कर अनुज को भी जोश आ जाता ।

अनुज नेहाके ओठों का रसपान करता तो नेहाउसके हथियार को खिंच कर लम्बा करने का प्रयास करती । थोड़ी देर के खेल के बाद अनुज अपना मुह नेहाकी चिकनी चूत पे ले गया उसकी चूत गरम हो चुकी थी वो अब चुदने को एक दम तैयार थी पर अनुज तो चाहता था की जल्दबाजी में एक बार फिर से काम बिगड़ सकता हे इसलिए उसने धैर्य रखा और अपना काम करता रहा । उसने अपनी नाक को नेहाकी चूत के पास ले जा क सुंघा एक मादक सी महक उसके दिमाग पे छा गई उसे लगा जैसे किसी ने उसको बिना पानी या सोडे के ही सराब पिला दी हो वो मदहोस सा हो गया उसकी आँखे अधखुली थी अपनी अधखुली आँखों से वो नेहाकी चूत को भी निहार रहा था । धीरे से उसने अपनी जीब बाहर निकली और बड़े इत्मीनान से उसको नेहाकी चूत की चीर पे फेरा नेहाको मानो करंट सा लग गया हो तो फडफडा उठी उसने अपनी टांगो को आपस में चिपका लिया । अब तो ऐसा लगने लगा जैसे अनुज नेहापे भारी पड़ रहा हो ।उसने नेहाकी तानो को फैला दिया और खुद उसकी टांगो के बीच आ गया उसने नेहाकी चूत को थोडा सा फैला दिया और अपनी जीभ उसमे डालने लगा ।

अंदर तो मानो कोई ज्वालामुखी फुट रहा हो नेहाकी चूत एक दम लाल सुर्ख और गरम थी अनुज इस गर्मी को अपने में समाहित कर लेना चाहता था और चाहता था की अपनी शर्मिंदगी का बदला लिया जाए और नेहाको शांत कर दिया जाए । उसने अपनी जीभ को नेहाकी चूत में फिराना शुरू किया नेहाकी चूत की गरमाहट को अनुज अपनी जीभ पे महसूस कर रहा था थोड़ी देर की चटाई के बाद अनुज ने देखा उसका लंड एक दम कठोर हो गया हे । वो अपनी गर्मी को ज्यादा सहन नहीं कर सकता था इसलिए उसने अपने लंड का सुपाडा नेहाकी चूत के मुहाने पे लगाया और एक जोर का झटका दिया । इस काम को करने में अनुज को ज्यादा मेहनत नहीं करनी पड़ी क्यू की नेहातो पहले से ही इस काम में माहिर हो चुकी थी सो अनुज का लंड अपनी चूत में लेने में उसको कोई ज्यादा दिक्कत नहीं आई । उसके मुह से सिर्फ एक आह निकली ये आह दर्द की नहीं थी बल्कि मजे की थी ।अनुज तो अपना होश नेहाकी चूत देखते ही खो चूका था इसलिए उसको पता भी नहीं था की नई नवेली दुल्हन की चूत में लंड एक दम से नहीं जाता । वो अपने काम में लगा रहा अब अनुज धीरे धीरे नेहाकी चूत मार रहा था ।

थोड़ी देर के बाद उसका लंड पूरा पानी से भीग गया सायद नेहाकी चूत ने पानी छोड दिया था इस लिए अनुज का लंड भी गिला हो गया था । अनुज को लगा मानो वो अपने शारीर की गर्मी को ज्यादा सहन नहीं कर पायेगा इस लिए उसने जोर जोर से धक्के लगाने शुरू कर दिए हर धक्के पे नेहाके मुह से आह निकलती तो अनुज और ज्यादा जोश में आ के जोर का धक्का देता उधर नेहाभी हर धक्के पे पूरी हिल जाती और जोर की आहे भरती । थोड़ी देर तक जोर के धक्के देने के बाद अनुज नेहाकी चूत में झड गया उसका अमृत रस नेहाकी चूत से बाहर आ रहा था ऐसा लग रहा था मानो किसी ने महादेव का दही से अभिषेक किया हो । और अनुज नेहाके वक्ष स्थलों पे अपना सर रख कर सो गया नेहाका शारीर भी लाल सुर्ख हो गया था वो भी एक दम निढाल हो गई थी । इसी अवस्था में उन दोनों को न जाने कब नीद आ गई पता ही नहीं चला ।


desi chudai story


 

अगले दिन सुबह जब अनुज उठा तो नेहाके नंगे जिस्म को सूरज की रौशनी में देख कर फिर जोश में आ गया । और वो सुबह सुबह ही नेहाको एक बार फिर से अपने आगोश में ले लिया ।दोपहर को अनुज का दोस्त अजय उससे मिलने आया । वो मिलने तो क्या आया वास्तव में तो वो अनुज से ये पूछने आया था की उसकी सुहागरात कैसी रही । खेर घर में पाँव रखते ही उसकी नज़र नेहापे पड़ी उसको देखते ही अजय उस पे फ़िदा हो गया । वो उसको एक तक देखे जा रहा था की इसी बीच अनुज आ गया । अजय ने अनुज को कहा यार तुम बहुत किस्मत वाले हो जो तुमको इतनी सुन्दर पत्नी मिली । अपनी पत्नी की तारीफ़ सुन कर अनुज मन ही मन खुस हुआ परन्तु उसके चेहरे पे एक सिकन थी वो कुछ बाते जानना चाहता था । इसके बाद अनुज और अजय एक कमरे में चले गए । अजय ने अनुज से पुछा यार अनुज बता तेरे सुहागरात कैसी रही । रात को किला फतेह कर लिया या नहीं । अनुज को शर्म आ गई और उसने अपना सर हां में हिला दिया । मन में खुशी भी थी और एक उलझन ही थी । मन ही मन सोच रहा था की अजय को बात पूछ लू । वो कुछ कहने ही वाला था की अजय ने उसको पूछ लिया क्या बात हे अनुज कुछ परेसान से देखाए दे रहे हो कोई परेसानी हो तो में बाद में आ जाता हु । अनुज ने कहा कुछ नहीं यार बस एक बात समझ में नहीं आ रही हे तुम मुझे बता सकते हो क्या । अजय बोला हा पुचो क्या बात हे । अनुज ने कहा क्या किसी नै नवेली दुल्हन के साथ जब पहली बार करते हे तो क्या उसकी योनी से खून आता हे क्या ।

loading...