Tag Archives: bathroom

दीदी की रसीली चूत – II

didi ki raseeli choot desi sex story
दीदी अब पिघल रही थी। उसके मस्त मम्मे मेरे सामने थे। बस किसी तरह उसकी चूत में घुस जाऊं। उनकी मस्त गुलाबी चूत। पढ़िए इस जबरदस्त desi sex story का आखिरी पार्ट.

सुनयना का दर्द

sunayna ka dard hindi porn story
रात को पार्क में मेरी सुनयना से मुलाकात हुई. वो मुझे पूरे नंगे बदन मिली थी. उस बेचारी का बलात्कार हुआ था. जख्मी भी हुई थी.पढ़िए उसकी दर्दभरी hindi porn story

मकान मालकिन से चक्कर

makaan malkin se chakkar hot story
मैंने हमेशा से कहा है कि बिना औरत और उसकी चूत के ये जग सुना है। ऐसी ही hot story आपको सुना रहा हूँ जहाँ चूत मुझे मेरी मकान मालकिन से मिलती है वो भी मस्त गरम

दीदी हुई मदमस्त

didi hui madmast hot hindi sex story
मेरे मामू की 3 बेटियां है, तीनो कातिल! पर बीच वाली दीदी तो क़यामत थी, आज आपको उन्ही की कहानी सुनाता हूँ. लंड/चूत हाथ में रखो इस hot didi sex story के लिए

मेरी भावना दीदी

meri bhawna didi sex kahani
18 साल के लड़के की जिज्ञासा बहुत तगड़ी होती है. मैं अपनी बहनों को बाथरूम में नहाते हुए चुपके से देखता था. गजब की क़यामत थी मेरी दीदी. मस्त didi sex kahani..

बरसात में छोटे भाई के साथ

barsaat mein chhote bhai ke sath rain sex story
उस रात में बारिश में भीगती हुई घर पहुची, कपडे अभी बदल ही रही थी की छोटे भाई ने देख लिए. उस रात और भी बहुत कुछ बदल गया था. जबरदस्त rain sex story पेश है

हवस की पुजारन – III

hawas ki pujaran hawas ki kahani
मेरा खुद पे कोई जोर नहीं रहा, मैं अपने हवस की कैदी बन चुकी थी. वो बड़ा लंड मुझे चाहिए ही था. मेरी ये हवस मुझे पता नहीं कहा ले जाएगी. hawas ki kahani जारी है.

हवस की पुजारन – II

hawas ki pujaran slut sex story
ये मैंने क्या कर दिया था, अपनी सील मैंने एक public bathroom में किसी अजनबी से तुडवा ली थी, पर सच कहूँ मज़ा भी बहुत आया था. इस slut sex story का अगला पार्ट

हवस की पुजारन

hawas ki pujaran public sex story
मैं अपनी ज़िन्दगी की sex kahani सुनाती हूँ. सब शुरू होता है एक पब्लिक टॉयलेट के किस्से से जिसने मुझे हवस की पुजारन बना दिया. एक जबरदस्त public sex story.

ट्रेन के टॉयलेट में भाभी चोदी

train ke toilet me bhabhi chodi train sexy story
ये train sexy story एक सच्ची घटना है. एक मस्त अनजान भाभी को मैंने ट्रेन के टॉयलेट के छोड़ डाला. वो भाभी भी कम नहीं थी, साली की चूत जैसे टपक ही रही थी..